वेश्याओं की जिंदगी को बयान करती यह तस्वीरें आपको झंझोड़ देंगी

वेश्याओं की जिंदगी को बयान करती यह तस्वीरें आपको झंझोड़ देंगी

- -


समय के बदलने के साथ-साथ देश के हालात भी बदले हैं। एक ओर जहाँ हमारे देश में अब बुलेट ट्रेन भी दौड़ने को तैयार है वहीँ दूसरी ओर देश के दूसरे सबसे बड़े रेड लाइट एरिया कमाठीपुरा की सूरत है कि बद से बदतर होती जा रही है। यहाँ जिस्म को बेचने का कारोबार बढ़ता जा रहा है। इस एरिया की ख़ासीयत यह है कि यहाँ हर तरफ शोरगुल छाया रहता है। सड़कें इस तरह लोगों से भरी होती है कि मानों जैसे भेड़-बकरियों का झुण्ड हो। हम शराफत का चोला ओढ़कर इस सच्चाई से मुँह तो फेर लेंगे मगर इससे इनकार नहीं कर पाएँगे 

 

रेड लाइट एरिया कमाठीपुरा की तस्वीर

वैसे तो किसी भी सेक्स वर्कर की जिन्दगी में तांका-झांकी करना किसी आम आदमी के बस की बात नहीं है। वैसे तस्वीरें किसी भी कहानी की एक अंश मात्र होती है। क्योंकि कमाठीपुरा के इस इलाके में ऐसी कई कहानियां दफन है, जिसे लोगों के ध्यान की जरूरत तो है मगर किसी के द्वारा ध्यान दिया नहीं जाता। यहाँ रहने वाली औरतों की आँखें इस उमीद में आने जाने वाले मर्दों पर टिकी रहती है कि शायद किसी के जिस्म की भूख, उसके पेट की आग को शांत करने का काम करेगी

यहाँ कभी रात नहीं होती

वैसे कहा जाता है मुंबई कभी नहीं सोती ये शहर भी उन चुनिन्दा शहरों में से एक है जो  24 घंटे दौड़ता-भागता नजर आता है। इसी शहर की तरह यह रेड लाईट एरिया भी कभी नहीं सोता 

काली रात का सच

देश के इस दुसरे सबसे बड़े रेडलाइट एरिया में सारी रात काफी शोरगुल रहता है। सिर्फ यहाँ काम करने वाली औरते ही नहीं बल्कि यहाँ की गलियाँ भी सारी रात जागती रहती हैं। औरतें हर आते-जाते ग्राहक को अपनी और आकर्षित या लुभाने की कोशिश करती है। यह इलाका ही उनकी पूरी दुनिया है 

अंग्रेजों ने बनाया था

यदि बात इतिहास की करें तो आप यह पाएंगें कि अंग्रेजों ने अपने सैनिकों के लिए यहाँ कभी ‘कम्फर्ट जोन’ बनवाया था। आपको जानकार हैरानी  होगी कि इस ‘कम्फर्ट जोन’ में विदेश से बड़ी तादाद में सेक्स वर्कर्स को बुलवाया गया था।